游客发表

वैष्णो देवी के बाद अब अमरनाथ यात्रा पर NGT सख्त, नारियल फेंकने पर भी सवाल

发帖时间:2023-11-28 23:49:41

वैष्णो देवी के बाद नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) अब अमरनाथ यात्रा के दौरान यात्रियों की सुविधाओं और प्रदूषण पर सख्त हुआ है. एनजीटी ने यात्रा आयोजित कराने वाले अमरनाथ श्राइन बोर्ड को फटकार लगाते हुए पूछा है कि 2012 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन क्यों नहीं हो रहा है. कोर्ट ने बोर्ड से इस पर स्टेटस रिपोर्ट भी तलब की है. एनजीटी ने बुधवार सुबह अमरनाथ यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं को दी जाने वाली सुविधाओं,वैष्णोदेवीकेबादअबअमरनाथयात्रापरNGTसख्तनारियलफेंकनेपरभीसवाल पवित्र गुफा के आसपास साफ-सफाई और गुफा तक जाने वाले मार्ग पर श्राइन बोर्ड को फटकार लगाई है. एनजीटी ने गुफा के पास के पूरे इलाके को साइलेंस जोन घोषित करने का सुझाव दिया है. एनजीटी ने कहा कि इससे बर्फीली वादियों में आने वाले एवलांच से भी बचा जा सकता है. इसके साथ ही गुफा के पास नारियल फेंकने पर भी एनजीटी ने सवाल उठाया. गुफा के पास बढ़ती दुकानों और खुले में बनाए गए टॉयलेट्स को न हटाने पर भी एनजीटी ने श्राइन बोर्ड को फटकार लगाई. ट्रिब्यूनल ने को दी जाने वाली सुविधाओं और गुफा के पास पर्यावरण संरक्षण के लिए कमेटी बनाई है.इससे पहले एनजीटी ने 13 नवंबर को जारी करते हुए कहा था कि अब एक बार में 50 हजार से ज्यादा लोगों को ऊपर गुफा की ओर नहीं जाने दिया जाएगा. वैष्णो देवी दर्शन करने जाने वाले श्रद्धालुओं की भारी तादाद को देखते हुए एनजीटी ने यह कदम उठाया है. एनजीटी ने कहा है कि अगर दर्शन करने के लिए 50 हजार से ज्यादा लोग होते हैं तो उन्हें अर्द्धकुंवारी या फिर कटरा पर ही रोक दिया जाएगा. वैष्णो देवी मंदिर की संरचना 50 हजार लोगों की क्षमता लायक ही है. इससे अधिक लोगों को वहां जाने की अनुमति देना खतरनाक हो सकता है, जिसके चलते यह रोक लगाई गई है.

    相关内容

    随机阅读

    热门排行

    友情链接